7 Dec 2018

जीवन
Foggy winter mornings, Manali


जीवन
कश्ती पर बैठे कुछ ज्ञानी
ज्ञान की बाते करने लगे।
एक कहने लगे,
जीवन एक संगीत है,
गाते चलो, गुनगुनाते चलो।
दूजे कहने लगे,
जीवन एक कहानी है,
पढ़ते चलो, पढ़ाते चलो।
लहर आयी,
कश्ती हिली,
शोर मचा।
मल्लाह बोला,
जीवन ये कश्ती है,
पकड़े रहो।

1 comments:

Hey there! What do you think about this post?