23 Dec 2018

मिडिल क्लास



मिडिल क्लास

ना इधर के,
ना उधर के,
बस अधर में लटक रहे है।
.
ना लोन वेवर,
ना बैंकरप्सी डिक्लेरेशन,
बस ईएमआई भर रहे है।
.
महँगाई की मार में,
सामाजिक कतार में,
बस उम्मीदों से लड़ रहे है।
.
हाल पूछ लीजिये कभी भी,
हंस कर कह देंगे,
बस चल रहे है।
.
In picture: Crowded Streets of Varanasi.

0 comments:

Post a Comment

Hey there! What do you think about this post?